आगामी आयोजन

 वर्षा वन अनुसंधान संस्थान, जोरहाट (असम) 30 जनवरी से 1 फरवरी, 2023 के दौरान किसानों, अगर उत्पादकों, गैर सरकारी संगठनों के सदस्यों, एसएचजी और जेएफएमसी, स्वायत्त/विकास परिषदों, उद्यमियों, छात्रों आदि के लिए अगरवुड खेती और कृत्रिम टीकाकरण पर प्रशिक्षण आयोजित कर रहा है  updated: 08 December 2022

 उष्णकटिबंधीय वन अनुसंधान संस्थान, जबलपुर द्वारा इंस्ट्रुमेंटेशन पर एक सप्ताह का प्रशिक्षण जनवरी 09 - 13, 2023 को किया जायेगा |  updated: 01 November 2022

 वर्षा वन अनुसंधान संस्थान, जोरहाट (असम) बायोमास को ग्रीन गोल्ड में परिवर्तित करने के लिए अल्पकालिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन आमंत्रित करता है  updated: 21 October 2022

 वन अनुसंधान संस्थान, देहरादून के वर्ष 2022 के लिए लघु अवधि प्रशिक्षण पाठ्यक्रम कैलेंडर  updated: 22 June 2022

भा.वा.अ.शि.प. के संस्थानों द्वारा अद्यतन

 वन आनुवंशिकी एवं वृक्ष प्रजनन संस्थान, कोयम्बटूर ने नवंबर 2022 के दौरान प्रकृति प्रोग्राम के तहत छात्र जागरूकता कार्यक्रम ऑनलाइन गतिविधि आयोजित की पर एक रिपोर्ट  व.आ.वृ.प्र.सं.:   09 December 2022

 प्रशिक्षण कार्यशाला : 28 नवंबर से 2 दिसंबर 2022 तक वन आनुवंशिकी एवं वृक्ष प्रजनन संस्थान, कोयम्बटूर में वन और परिदृश्य बहाली के लिए वृक्ष बीज स्रोतों की उपलब्धता का आकलन पर एक रिपोर्ट  व.आ.वृ.प्र.सं.:   09 December 2022

 न अनुसंधान केंद्र - आजीविका विस्तार, अगरतला में प्रकृति के तहत बांस और रतन की खेती से संबंधित जागरूकता और प्रदर्शन कार्यक्रम  व.अ.कें.-आ.वि.:   08 December 2022

 वन अनुसंधान केंद्र - आजीविका विस्तार, अगरतला में प्रकृति के तहत बांस और रतन-हरा सोना पर प्रस्तुति  व.अ.कें.-आ.वि.:   08 December 2022

 वन अनुसंधान केंद्र - आजीविका विस्तार, अगरतला में प्रकृति के तहत पूर्वोत्तर भारत के बांस और रतन संसाधनों से परिचित होने के लिए एफआरसीबीआर में छात्रों की एक्सपोजर यात्रा  व.अ.कें.-आ.वि.:   08 December 2022

 वन जैव विविधता संस्थान, हैदराबाद में राष्ट्रीय एकता दिवस (राष्ट्रीय एकता दिवस) दिवस समारोह पर एक रिपोर्ट   व.जै.सं.:   07 December 2022

 वन जैव विविधता संस्थान, हैदराबाद में संविधान दिवस समारोह पर एक रिपोर्ट  व.जै.सं.:   07 December 2022

 वन जैव विविधता संस्थान, हैदराबाद में स्वास्थ्य और तंदुरूस्ती (आयुष पर जोर देने के साथ) कार्यक्रम के उत्सव पर एक रिपोर्ट  व.जै.सं.:   07 December 2022

 वन जैव विविधता संस्थान, हैदराबाद में स्वच्छता कार्यक्रम के उत्सव पर एक रिपोर्ट  व.जै.सं.:   07 December 2022

 इको-पुनर्वास के लिए वन अनुसंधान केंद्र, प्रयागराज द्वारा आयोजित "प्रकृति : पर्यावरण जागरूकता के लिए वैज्ञानिक-छात्र संपर्क" कार्यक्रम पर एक रिपोर्ट  व.अ.कें. ई.पु.:   07 December 2022

 मोबाइल ऐप "वन बीज विज्ञान और प्रौद्योगिकी" का विमोचन आईएफजीटीबी ईआईएसीपी पीसी, कोयम्बटूर द्वारा   व.आ.वृ.प्र.सं.:   06 December 2022

 वन आनुवंशिकी एवं वृक्ष प्रजनन संस्थान, कोयम्बटूर द्वारा 26 नवंबर, 2022 को "संविधान दिवस (संविधान दिवस)" के उत्सव आयोजन पर एक रिपोर्ट  व.आ.वृ.प्र.सं.:   06 December 2022

 वन आनुवंशिकी एवं वृक्ष प्रजनन संस्थान, कोयम्बटूर द्वारा आयोजित "विश्व मृदा दिवस" ​​​​के उत्सव पर एक रिपोर्ट  व.आ.वृ.प्र.सं.:   06 December 2022

 सचिव, आईसीएफआरई, देहरादून के वन अनुसंधान केंद्र - आजीविका विस्तार, अगरतला के दौरे पर रिपोर्ट   व.अ.कें.-आ.वि.:   06 December 2022

 तटीय पारिस्थितिकी तंत्र केंद्र, विशाखापत्तनम ने 2 दिसंबर 2022 को केंद्रीय विद्यालय नंबर 1, नौसेनबाग, विशाखापत्तनम के छात्रों के बीच "प्रकृति: एक वैज्ञानिक - छात्र जोड़ने की पहल" का आयोजन किया  त.पा.तं.कें:   06 December 2022

और पढ़ें

भा.वा.अ.शि.प.की प्रौद्योगिकी

  जूनीपेरस पॉलीकार्पस (हिमालयन पेन्सिल सीडार) की बीज प्रौद्योगिकी

जुनिपेरस पाॅलीकार्पोस, सी.कोच उत्तर पश्चिम हिमालयन क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण देशज शंकु वृक्ष है, जिसे सामान्यतः हिमालयन पेंसिल सिडार के नाम से जाना जाता है। इस प्रजाति के बीजों में प्रसुप्ति होती है, जो इसके अंकुरण को प्रभावित करती है। 

  कुटकी बहुगुणन हेतु वृहद-प्रसार तकनीक

पिकोरिजा कुरूआ, रायल एक्स बेंथ जिसे सामान्यतः कुटकी के नाम से जाना जाता है, यह पश्चिमी हिमालय में पाया जाना महत्वपूर्ण शीतोष्ण औषधी पादप है, जिसकी उच्च शीतोष्ण क्षेत्रों (2700 मी. से ऊपर) में वाणिज्यिक कृषि हेतु महत्वपूर्ण संभाव्यता है।

  मुशाकबला बहुगुणन हेतु बृहद-प्रसार तकनीक

वैलरियाना जटामांसी, जोन्स जिसे सामान्यतः मुशाकबला के नाम से जाना जाता है, यह पश्चिमी हिमालय में पाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण शीतोष्ण औषधी पादप है तथा वाणिज्यिक कृषि हेतु महत्वपूर्ण संभाव्यता रखता है।

  देवदार निष्पत्रक (एक्ट्रोपिस देवदारे प्राउट) का एकीकृत कीट प्रबंधन

देवदार (सिडेरस देओदारा), उत्तर-पश्चिम हिमालय का एक अति मूल्यित एवं बहुल शंकु प्रजाति है, यह कुछ अंतरालों पर निष्पत्रक, इक्ट्रोपिस देओदारी प्राउट (लेपीडोप्टेरा: जिओमैट्रिडि) से प्रभावित होता है। यह प्रमुख नाशी-कीट देवदार वनों की अल्पवयस्क फसलों को गम्भीरता से प्रभावित करता है।

  बागवानी रोपण के साथ शीतोष्ण औषधीय पादपों का अंतरफसलीकरण

उच्च पहाड़ी शीतोष्ण क्षेत्रों के बागानों में अंतरालों का बेहतर उपयोजन किया जा सकता है तथा चुनिंदा वाणिज्यिक रूप से महत्वपूर्ण औषधीय पादपों के अंतरफसलीकरण से बागानों द्वारा आर्थिक लाभ की वृद्धि की जा सकती है।

Untitled Document