परिचय

अनुसंधान निदेशालय की अध्यक्षता उप महानिदेशक (अनुसंधान) करते हैं और तीन सहायक महानिदेशक (अनुसंधान योजना), सहायक महानिदेशक (अनुश्रवण एवं मूल्यांकन) और सहायक महानिदेशक (जैव विविधता एवं जलवायु परिवर्तन) और अन्य वैज्ञानिक उनकी सहायता करते हैं। निदेशालय सुनिश्चित करता है कि भा.वा.अ.शि.प. संस्थानों द्वारा निष्पादित सभी अनुसंधान परियोजनाएं आवश्यकता आधारित और क्षेत्रीय तथा राष्ट्रीय वानिकी अनुसंधान समस्या को संबोधित करने वाली हों। निदेशालय द्वारा अनुसंधान प्राथमिकताएं सभी हितधारकों और अंतिम उपयोगकर्ताओं को सम्मिलित करने वाले भागीदारी तंत्र के माध्यम से है। अनुसंधान की समस्याओं का समाधान करने हेतु समग्र दृष्टिकोण और कार्य के दोहराव से बचने के लिए, भा.वा.अ.शि.प. ने कुछ उभरते विषयों और महत्वपूर्ण वानिकी प्रजातियों सहित एक अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना (ए.आई.सी.आर.पी.एस.) की शुरुआत की है।

1- अनुसंधान योजना प्रभागः  विस्तृत जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करें

2- अनुश्रवण एवं मूल्यांकन प्रभागः  विस्तृत जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करें

3- जैवविविधता एवं जलवायु परिवर्तन प्रभागः  विस्तृत जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करें

अधिदेश

अनुसंधान समस्याओं के समाधान हेतु समग्र दृष्टिकोण, अनुसंधान निदेशालय की अद्वितीय पहचान है और अनुसंधान कार्य के दोहराव से बचने के लिए भा.वा.अ.शि.प. ने कुछ उभरते विषयों और महत्वपूर्ण वानिकी प्रजातियों पर अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजनाओं (ए.आई.सी.आर.पी.एस.) की शुरुआत की है। निदेशालय के प्रभाग, भा.वा.अ.शि.प. के अनुसंधान कार्यक्रमों के समन्वय में एक दूसरे के पूरक हैं।

अनुसंधान योजना

1- अनुसंधान सलाहकार समूह के कैलेंडर की तैयारी
2- संस्थानों में अनुसंधान सलाहकार समूह के संचालन का समन्वय
3- आर.पी.सी. बैठकों का संचालन
4- संस्थानों को नई अनुसंधान परियोजनाओं के अनुमोदन के बारे में सूचित करना
5- नई अनुसंधान परियोजनाओं हेतु अनुवर्ती कार्रवाई एवं अंतिम अनुमोदन की सूचना

अनुश्रवण एवं मूल्याकंन 

1. भा.वा.अ.शि.प. संस्थानों में सभी वर्तमान अनुसंधान परियोजनाओं का अनुश्रवण एवं मूल्यांकन तथा समय पर पूरा करने तथा प्रस्तावित उद्देश्यों को प्राप्त करने हेतु सुधारात्मक उपाय सुझाना।

2. भा.वा.अ.शि.प. दिशानिर्देशों के अनुरूप नियोजित परियोजनाओं की योजना की परियोजना समाप्ति आख्या का मूल्यांकन।

3. भा.वा.अ.शि.प. संस्थानों में अनुसंधान की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए आवधिक संगोष्ठियों का आयोजन व उसका विस्तार।


जैव विविधता एवं जलवायु परिवर्तन

जैव विविधता और जलवायु परिवर्तन भारत में जलवायु परिवर्तन के मूल और अनुप्रयुक्त अनुसंधान का संचालन और समन्वय कर रहा है:

1- जलवायु परिवर्तन के लिए वन पारिस्थितिकी प्रणालियों की सुभेद्यता और अनुकूलन
2- वानिकी क्रियाकलापों के माध्यम से जलवायु परिवर्तन शमन
3- वन आधारित समुदायों पर जलवायु परिवर्तन का सामाजिक आर्थिक प्रभाव
4- जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन में वन एवं जलवायु परिवर्तन से संबंधित मुद्दों पर नीतिगत अनुसंधान और भारत के लिए उनका निहितार्थ
5- देश में निर्वनीकरण एवं निम्नीकरण (रेड्ड+) से उत्सर्जन में कमी हेतु तत्परता
6- पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के लिए द्विवार्षिक अद्यतन रिपोर्ट तथा राष्ट्रीय संचार के लिए जलवायु परिवर्तन और वानिकी क्षेत्र पर रिपोर्टिंग

नवीन उपक्रमः

1- रिम्स (अनुसंधान सूचना प्रबंधन प्रणाली)

2- एआईसीआरपी (अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजनाएं)

3- एनएफआरपी (राष्ट्रीय वानिकी अनुसंधान योजना)

4- आवधिक संगोष्ठियां

5- परियोजना मूल्यांकन समिति द्वारा परियोजना समाप्ति रिपोर्ट का मूल्यांकन

6- अनुश्रणव तंत्र का विकास

7- भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद् की बौद्धिक संपदा अधिकार नीति

8- महत्वपूर्ण वानिकी प्रजातियों की निर्मुक्त किस्में

9- क्षेत्रीय अनुसंधान सम्मेलन

10- भा.वा.अ.शि.प. निदेशक सम्मेलन

11- बीटीएसजी-भा.वा.अ.शि.प. (एनबीएम द्वारा सहायता प्राप्त)

12- हिमालयी परियोजनाः आईसीआईएमओडी जियोपोर्टलः ICIMOD Geoportal:   http://www.icimod.org/?q=redd

 

1- जैवविविधता एवं जलवायु परिवर्तन पर पूरी हो चुकी परियोजनाएं। व  विस्तृत रूप से देखने के लिए लिंक पर जाएं।

2-जैवविविधता एवं जलवायु परिवर्तन पर जारी परियोजनाएं।  विस्तृत रूप से देखने के लिए लिंक पर जाएं।

3- प्रकाशनः :  विस्तृत रूप से देखने के लिए लिंक पर जाएं।

4- प्रकाशित प्रोसीडिंग्सः  विस्तृत रूप से देखने के लिए लिंक पर जाएं।

5-क्षमता निर्माण कार्यक्रमः व  विस्तृत रूप से देखने के लिए लिंक पर जाएं।

6- महत्वपूर्ण विशेषताएः  विस्तृत रूप से देखने के लिए लिंक पर जाएं।

 

व्यक्ति

श्री एस.डी. शर्मा, भा.व.से.
उपमहानिदेशक, अनुसंधान
अऩुसंधान निदेशालय
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
फोन: +91-135-2756497, 2756803 (R);
फैक्स: +91-135-2750297
E-mail:
ddg_res@icfre.org

 

डॉ. विमल कोठियाल
सहायक महानिदेशक
अनुसंधान एवं योजना
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
फोन: +91-135-2753290(का.)
फैक्स: +91-135-2750297
ई-मेल:
adg_me@icfre.org

 

श्री एन.सी. सरवणन, भा.व.से.
सहायक महानिदेशक (एम.एंड.ई.)
अनुश्रवण एवं मूल्यांकन प्रभाग
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
फोन: +91-135-2757485, 2224810
फैक्स: +91-135--
ई-मेल:
adg_me@icfre.org

 

डॉ.शिल्पा गौतम
वैज्ञानिक - डी
जैवविविधता संरक्षण प्रभाग
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
फोन: +91- 135- 2224819
ई-मेल:
gautams@icfre.org

 

डॉ. आर.एस.रावत  
वैज्ञानिक - डी
जैवविविधता संरक्षण प्रभाग
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
फोन: +91- 135- 2224803, 2740296
ई-मेल:
rawatrs@icfre.org

 

डॉ. मनीष कुमार
वैज्ञानिक - बी
अनुश्रवण एवं मूल्यांकन प्रभाग
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
फोन: +91- 135- 2224858
ई-मेल:
kumarm@icfre.org

 

डॉ. शैलेंद्र कुमार
सहायक मुख्य तकनीकी अधिकारी
अनुसंधान योजना प्रभाग
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
फोन: +91- 135- 2224833
ई-मेल:
shailendrak@icfre.org

 

 

संपर्क

श्री सुनील दत्त शर्मा, भा.व.से.

उपमहानिदेशक (अनुसंधान)
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
पो.ऑ. न्यू फॉरेस्ट, देहरादून
उत्तराखंड, भारत

पिन कोड: 248006
फोन: +91-135-2757775 (O)  Fax    : +91-135-2757775
ई-मेल:  ddg_res@icfre.org