अधिदेश

वानिकी सांख्यिकी प्रभाग का सृजन भा.वा.अ.शि.प. के वानिकी अनुसंधान को निविष्टि प्रदान करने के साथ ही वानिकी और पर्यावरण अनुसंधान में सांख्यिकीय अनुप्रयोगों के क्षेत्र में अनुसंधान करने के लिए किया गया था। प्रभाग का अधिदेश है:

1- भा.वा.अ.शि.प. के संस्थानों/केंद्रों के अनुसंधान कार्य में सांख्यिकीय सहायता हेतु एक केंद्र के रूप में कार्य करने हेतु। इसमें भा.वा.अ.शि.प. की विभिन्न अनुसंधान परियोजनाओं में होने वाले प्रयोगात्मक और नमूना डिजाइन तथा सांख्यिकीय तकनीकों के उपयोग का पुनरीक्षण और अनुसंधान गतिविधियों से उत्पन्न आंकड़ों का विश्लेषण करने में सहायता प्रदान करना शामिल है।

2- वानिकी अनुसंधान के लिए वर्तमान एवं उभरती हुई नई सांख्यिकीय तकनीकों के अनुकूलन द्वारा वानिकी के सांख्यिकी पहलुओं पर अनुसंधान

3- वानिकी क्षेत्र से संबंधित आंकड़ों का डाटाबेस बनाने और बनाए रखने तथा सांख्यिकीय रिपोर्टों और प्रकाशनों के माध्यम से इन्हें प्रसारित करना'

4- भा.वा.अ.शि.प. के अनुसंधानकर्ताओं की सांख्यिकीय क्षमता के निर्माण के लिए प्रशिक्षण आयोजित करना

5- पारिस्थितिक तंत्र संसाधनों के मूल्यांकन जैसे वानिकी के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में स्वतंत्र अनुसंधान करना

 

नवीन पहल

वर्तमान में प्रभाग इन कार्यों में सम्मिलित है -

1- भारत की वानिकी सांख्यिकी की तैयारी, भारत के वानिकी क्षेत्र की आधिकारिक सांख्यिकी का कंपेंडियम

2- भारत की वानिकी क्षेत्र के रिपोर्ट की तैयारी-2018 (पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित)

3- दो प्रशिक्षण कार्यक्रमों का संचालन

(i) सांख्यिकीय प्रविधियों में पुनश्चर्या पाठ्यक्रम

(ii) उन्नत सांख्यिकी (बहुभिन्नरूपी विश्लेषण)

4- वानिकी एवं पर्यावरण अनुसंधान में सांख्यिकीय प्रविधियों पर संदर्भ सामग्री का विकास 1947 के पश्चात किए गए सांख्यिकीय कार्यों के करीब 3000 रिकार्ड मौजूद हैं। इन उपलब्ध अभिलेखों का शोधार्थियों के प्रयोग हेतु अध्ययन और डिजिटलीकरण किया जाना है। डिजिटलीकरण के साथ ही इन रिकार्डों को वानिकी अनुसंधान के विभिन्न अनुशासनों के तकनीकी दस्तावेजों में परिवर्तित किया जाना है। ये अनुसंधान तरीकों औऱ विश्लेषण के लिए संदर्भ के तौर पर प्रयोग में आएंगे।

5- वन उत्पादों के व्यापार में रुझान का निर्धारण

6- सांख्यिकीय रिपोर्ट प्रभाग के पास पिछले 12 सालों के वानिकी क्षेत्र से संबंधित सांख्यिकीय आंकड़े मौजूद हैं। इसके साथ ही भारतीय वनों से संबंधित आंकड़े जो पहले आर्थिक एवं सांख्यिकी निदेशालय, कृषि मंत्रालय द्वारा इकट्ठा किए जाते थे, भी उपलब्ध हैं। प्रभाग ने वानिकी क्षेत्र एवं वर्तमान रूझान के महत्वपूर्ण मानदंडों के विश्लेषण को समाहित करते हुए रिपोर्टों को बनाने की तैयारी शुरू कर चुका है। बनाई जाने वाली रिपोर्टों के कुछ उदाहरण हैं – अंतर्राष्ट्रीय व्यापार, वृक्षारोपण, प्रकाष्ठ उत्पादन आदि.

 

व्यक्ति

 

 

श्री रमन नौटियाल
प्रमुख एवं वैज्ञानिक – ई
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
फोन: +91- 135- 2224811 (O)    2752150 (R)
ई-मेल: nautiyalr@icfre.org

डा. गिरीश चंद्रा
वैज्ञानिक – सी
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
फोन: +91- 135- 2224821 (O)
ई-मेल: chandrag@icfre.org, gchandra23@yahoo.com

-

श्री अनूप सिंह चौहान
सहायक मुख्य तकनीकी अधिकारी
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
 

-

श्री सुदर्शन सिंह
सहायक मुख्य तकनीकी अधिकारी
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्

 

संपर्क

प्रमुख
वानिकी सांख्यिकी प्रभाग
भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्
पो.ऑ. न्यू फॉरेस्ट, देहरादून  
उत्तराखंड - भारत
पिन कोड: 248006
फोन: +91-135-2224811, 2752229 (O), 2752150 (R)
ई-मेल:    nautiyal@icfre.org